🩸 HIV Full Form in Hindi | एचआईवी क्या है – सम्पूर्ण जानकारी

आज हम आपको HIV Full Form in Hindi के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है। दुनिया भर मे अनेकों बीमारियाँ पायी जाती हैं जिनमे से कुछ बीमारियों तो ऐसी है जिनके हो जाने से मनुष्य को कठिनाई तो होती है लेकिन समय पर सही इलाज उपलब्ध हो जाने से उनका जीवन बच जाता है लेकिन कुछ ऐसी बीमारियाँ भी है जिनके हो जाने से प्रतिदिन कई लोगो की मृत्यु भी हो जाती है।

आज हम आपको HIV के बारे मे बताने वाले है क्योकि यह भी बहुत ही घतक बीमारी है जो समाज मे बहुत तेजी से फैलती जा रही है। आपको बता दें HIV एक बहुत ही खतरनाक वायरस होता है। जिसके कारण AIDS जैसी भयंकर बीमारी होने का खतरा रहता है। जिसे समय के रहते ध्यान नहीं दिया गया तो यह शरीर को धीरे-धीरे खतम कर देता है।

HIV Full Form in Hindi

आज हम इस आर्टिकल के जरिए आपको एचआईवी से संबन्धित सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है जैसे- HIV क्या है?, HIV Ka Full Form क्या होता है? आदि जैसी अनेकों जानकारी देने वाले है।

अगर आप भी HIV के बारे मे अनेकों जानकारियों को जानना चाहते है तो इसके लिए हमारे इस आर्टिकल को शुरू से लेकर अंत तक ध्यानपूर्वक अवश्य पढ़े। आज आपको कुछ नया जरूर सीखने को मिलेगा।

HIV Full Form in Hindi – एचआईवी फुल फॉर्म हिन्दी

HIV Ka Full Form “Human Immunodeficiency Virus” होता है जिसे हिन्दी मे ह्यूमन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस कहते है। HIV की फुल फॉर्म आप नीचे भी देख सकते है।

  • HIV Full Form- Human Immunodeficiency Virus
  • HIV Full Form in Hindi- ह्यूमन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस
  • Aids Full Form

HIV क्या है? – HIV Kya Hai

अभी हमने बताया कि HIV की फुल फॉर्म (HIV Full Form in Hindi) Human Immunodeficiency Virus होती है जिसको हिंदी में ह्यूमन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस के नाम से भी जाना जाता है। वैसे हमारे समाज मे HIV के नाम से ही सभी लोग जानते हैं।

यह एक प्रकार का वायरस होता है जिसके कारण ही Aids होता है। आप सभी को यह भी बता दे की यह बीमारी पूरे विश्व में फैली हुई है। इसके कारण कई लोगो की जान भी जा चुकी है।

यह एक ऐसा वायरस होता है जो की हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (प्रतिरक्षा प्रणाली) को कमजोर कर देता है। यह बहुत ही घातक बीमारी मे से एक है जिसके कारण किसी भी व्यक्ति की मृत्यु हो सकती है। इस बीमारी के भी कई चरण होते है।

जब व्यक्ति के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने लगती है तो उस व्यक्ति के शरीर मे कई छोटी-बड़ी बीमारियाँ बड़ी ही आसानी से प्रवेश कर सकती है। जितनी अच्छी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता होगी उतनी ही ज्यादा शरीर स्वास्थ्य अच्छा रहता है।

वैसे तो विश्व भर मे HIV से पीड़ित बहुत से व्यक्ति है लेकिन एक सर्वे मे यह पता लगाया गया कि करीब 38.4 मिलियन लोग विश्व में इस बीमारी से पीड़ित है। HIV पीड़ित अधिकतर लोग एशिया, पश्चिम अफ्रीका और यूरोप महाद्वीप में पाए जाते है।

समाज मे कई लोग ऐसे होते है जो की HIV और AIDS को एक ही मानते है परन्तु ऐसा बिलकुल भी नहीं है HIV एक प्रकार का वायरस (Virus) होता है और Aids एक प्रकार का सिंड्रोम है जो की HIV के वायरस के कारण होता है। तो यह समाज मे फैली एक प्रकार की मिथ थी जिसे सुधारना हम सब का कर्तव्य है।

एचआईवी के चरण – Stage of HIV

HIV सम्पूर्ण शरीर मे पूरी तरह फैलाने से पहले नीचे दिये गये 3 चरणो से होकर गुजरता है जिसे जानना सभी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है।

Acute HIV Infection

Acute HIV infection को HIV का पहला चरण माना जाता है इसमे HIV से संक्रमित व्यक्ति को लक्षण तुरंत समझ मे नहीं आते है। डॉक्टर्स बताते है कि इस वाइरस से ग्रसित व्यक्ति को 2-4 सप्ताह के बाद ही लक्षण समझ मे लग जाते है।

Chronic HIV Infection

यह HIV का दूसरा चरण होता है इसमे वायरस शरीर को रिप्लिकेटिंग करना शुरू कर देता है। जो बहुत धीमी गति से मानव की प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर देता है। इसलिए कहा जाता है कि दूसरे व्यक्तियों को संक्रमित करने से पहले HIV Test करवाना अतिमहत्वपूर्ण होता है।

Advanced Infection

यह सबसे आखिरी और तीसरा चरण होता है जिसमे HIV Infection शरीर के CD4 – सेल की संख्या 200 के नीचे चली जाती है और शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली पूरी तरह से इस स्थिति में कमजोर हो जाती है। इस चरण मे पहुँचने के बाद व्यक्ति संक्रमण की दशा से अधिक संक्रमित हो जाते हैं।

एचआईवी कैसे फैलता है? HIV Kaise Failta Hai

मानव इम्युनोडेफिशिएंसी वायरस एक ऐसा वायरस है जिसका उपचार समय पर नही किया गया तो यह इम्यूनोडिफीसिअन्सी सिंड्रोम (Aids) को जन्म दे सकता है। एचआईवी शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली, विशेष रूप से सीडी 4 कोशिकाओं पर हमला करता है, जो शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं।

ऐसे कई तरीके हैं जिनसे HIV एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है। जो सबसे आम तरीकों में शामिल हैं वह नीचे आप देख सकते है।

  • एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति के जननांग तरल पदार्थ, रक्त और स्तन के दूध में मौजूद होता है, और यह कट, घाव या श्लेष्मा झिल्ली के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकता है।
  • HIV फैलने का मुख्य कारण यह भी है कि व्यक्ति असुरक्षित यौन संबंध को सहज समझता है। जो कि नहीं करना चाहिए।
  • HIV को डिस्पोजल सिरिंज, सीरिंज या अन्य इंजेक्शन लगाने वाले दवा उपकरणों के सम्पर्क के माध्यम से प्रेषित किया जा सकता है।
  • एचआईवी पॉजिटिव मां से उसके बच्चे को गर्भावस्था, प्रसव या स्तनपान के दौरान प्रेषित किया जा सकता है।
  • यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि HIV आकस्मिक संपर्क से नहीं फैलता है, जैसे हाथ मिलाना, भोजन या पेय पदार्थ साझा करना।
  • व्यक्ति को HIV से बचाने के लिए, यौ*न क्रिया के दौरान कं*डोम का उपयोग कर सकते हैं, सिरिंज को साझा करने से बचें और नियमित रूप से परीक्षण करवाएं।

यदि आप HIV पॉजिटिव हैं, तो आप वायरस को दबाने और दूसरों को संचरण को रोकने के लिए एंटीरेट्रोवाइरल दवाएं ले सकते हैं।

HIV के सामान्य लक्षण

  • HIV पॉज़िटिव व्यक्ति मे निम्न समस्याओं को समान्यतया देखा जाता है।
  • व्यक्ति के याददाश्त में कमी आना।
  • थोड़े से काम करने में ज्यादा थकान महसूस करना।
  • शरीर के इम्यून सिस्टम का कमजोर होना।
  • लगातार शरीर के वजन का कम होना।
  • पिपरमेंट तेल का आज का भाव
  • अधिक समय तक डायरिया की स्थिति से पीड़ित रहना।
  • व्यक्ति को सूखी खांसी होना।
  • व्यक्ति को हर समय दस्त की समस्या होना।
  • काफी लंबे समय तक शरीर मे बुखार रहना।
  • रात को सोते वक्त ज्यादा मात्रा मे पसीना आना।
  • इसमे व्यक्ति को मेमोरी लॉस की समस्या भी हो सकती है।

एचआईवी का इलाज

HIV के इलाज की बात करें तो इसकी कोई दवा अभी तक नहीं बनी है जो इस वाइरस जो खतम कर सके न ही कोई टीका उपलब्ध हो पाया है लेकिन समय रहते डॉक्टर के परामर्श से इस पर दवाइयों के माध्यम से कंट्रोल किया जा सकता है। सबसे अच्छा तो यही रहता है कि इस बीमारी से बचना चाहिए।

एचआईवी की जाँच और HIV Test फीस

HIV के निदान के लिए दुनिया के विभिन्न हिस्सों में इस्तेमाल की जाने वाले विभिन्न प्रक्रियाएं शामिल है। जिसमें ELISA Test, Western Bolt Test, Saliva Test और Viral Load Test आदि शामिल है। HIV का कोई भी Text करवाने से पहले आप डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

HIV Test Fees की बात करे तो यह हर एक लेबॉरेटरी मे अलग-अगल हो सकती है लेकिन औसतन कितनी फीस लगती है ये जानना है तो आपको बता दे HIV Test Fees औसतन 1000 से 2500 तक हो सकती है।

एचआईवी का रोकथाम

  • अपनी यौन साथी को सीमित रखे किसी एक के साथ यौन संबन्ध बनाए तो अच्छा है।
  • यदि आप पहले से इस एचआईवी पॉज़िटिव है तो आप किसी भी साथी से यौन संबन्ध न बनायें।
  • संक्रमित व्यक्ति को चाहिए कि वह समय समय पर अपना Test करवाए और नियमो का पालन करे।
  • पहले से इस्तेमाल की गयी इंजेक्शन के दुबारा प्रयोग से बचें।
  • कं*डोम का इस्तेमाल करें।
  • पहले से संक्रमित व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति को खून देने से बचे।
  • संक्रमित माताएँ नवजात बच्चे को दूध पिलाने से बचें।

HIV Full Form in Hindi FaQ (सवाल-जवाब)

एच आई वी कैसे होता है?

एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति के जननांग तरल पदार्थ, रक्त और स्तन के दूध में मौजूद होता है, और यह कट, घाव या श्लेष्मा झिल्ली के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकता है।

क्या झूठा खाने से एचआईवी होता है?

नहीं झूठा खाने से एचआईवी नही होता है।

किस करने से एड्स होता है क्या?

नही चुंबन करने से एचआईवी नही होता है।

कितने लोगों से संबंध बनाने से एचआईवी होता है?

यहाँ पर कितने लोगों से संबंध बनाने से मतलब नहीं है। ध्यान देने वाली बात यह है कि कहीं आप जिस व्यक्ति के साथ शारीरिक संबंध बनाने जा रहे है वह एचआईवी संक्रिमित तो नहीं है या उसे एड्स हो नहीं नहीं है यदि ऐसा है तो सावधान हो जाइए।

क्या कं*डोम लगाने के बाद भी एड्स हो सकता है?

हाँ किसी-किसी परिस्थियों मे ऐसा हो सकता है जैसे कं*डोम फटने या आंतरिक स्पर्स से।

एचआईवी की पहचान क्या है?

एचआईवी होने पर 30-50 दिनों के बाद आपको खांसी, दस्त, बुखार या कमजोरी जैसी समस्या देखने को मिलेंगी।

एड्स होने में कितना समय लगता है?

वैज्ञानिकों के शोध से पता चलता है कि एचआईवी से एड्स होने मे लगभग 10 वर्ष का समय लग सकता है।

हमे पूरा भरोसा है कि आपको यह पोस्ट HIV Full Form in Hindi जरूर पसंद आया होगा। हम हमेशा से यह कोशिश करते रहते है कि हम आपके लिए अच्छा से अच्छा Content लेकर आए। हम आशा करते हैं कि अब आपको EVS Full Form in Hindi से संबन्धित सभी जानकारी मिल गयी होगी।

अगर आपके पास आर्टिकल HIV Full Form in Hindi से संबन्धित कोई सुझाव व सवाल है तो आप हमे नीचे कमेंट के माध्यम से बता/पूंछ सकते है। यदि आपको आज की यह पोस्ट पसन्द आई है तो आप अपने Friends के साथ इस आर्टिकल को सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे।

1 thought on “🩸 HIV Full Form in Hindi | एचआईवी क्या है – सम्पूर्ण जानकारी”

Leave a Comment