🩸 Aids Full Form in Hindi | एड्स क्या है – सम्पूर्ण जानकारी

अक्सर देखा जाता है कि लोगों को मेडिकल लाइन की जानकारी के आभाव के चलते बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आप का हमारा आर्टिकल भी मेडिकल लाइन से संबन्धित है जिसकी जानकारी सभी लोगों को अवश्य होनी चाहिए।

आज हम इस आर्टिकल के जरिए आपको एचआईवी से संबन्धित सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है जैसे- Aids क्या है?, Aids Ka Full Form क्या होता है? Aids full form in hindi क्या है? आदि जैसी अनेकों जानकारी देने वाले है।

Aids Full Form in Hindi

अगर आप भी Aids के बारे मे अनेकों जानकारियों को जानना चाहते है तो इसके लिए हमारे इस आर्टिकल को शुरू से लेकर अंत तक ध्यानपूर्वक अवश्य पढ़े। आज आपको कुछ नया जरूर सीखने को मिलेगा।

पिपरमिंट तेल आज का भाव देखें

बहुत से लोगों को Aids की जानकारी नहीं होती है या है भी तो कुछ गलत मिथ मे है। यह मेडिकल संबन्धित जानकारी हम सभी के जीवन से जुड़ा होता है इसलिए इसकी सही जानकारी होना आवश्यक होता है।

Aids Full Form in Hindi – एड्स फुल फॉर्म हिन्दी

Aids ka Full Form “Acquired Immune Deficiency Syndrom”e होता है जिसे हम हिन्दी मे एक्वायर्ड इम्यूनोडेफिशियेंसी सिंड्रोम कहते है। HIV एक खतरनाक Virus है जिसके कारण ही Aids का जन्म होता है।

सन 1988 से 1 दिसम्बर को पूरे विश्व मे World Aids Day मनाया जाता है। हमारे भारत देश मे लगभग 1 मिलियन प्रति वर्ष की दर से लोग इस गंभीर बीमारी से ग्रसित हो रहे है।

Aids क्या है? – Aids Kya Hai

जैसा की अभी हमने बताया कि एड्स का फुल फॉर्म Acquired Immune Deficiency Syndrome होता है जिसे हम हिन्दी मे एक्वायर्ड इम्यूनोडेफिशियेंसी सिंड्रोम कहते है। HIV एक खतरनाक Virus है जिसके कारण ही Aids का जन्म होता है। अगर किसी व्यक्ति को HIV है तो इसका मतलब यह बिलकुल भी नहीं है कि उस व्यक्ति को एड्स भी है।

IAS FULL FORM

HIV ही प्रतिरक्षा प्रणाली के काम आने वाली CD4 कोशिकाओं पर हामला करके कमजोर कर देता है जिसके फलस्वरूप Aids होने की स्थिति तक पहुंचा देते है। जब शरीर से CD4 कोशिकाओं को नष्ट कर दिया जाता है तो शरीर गम्भीर और खतरनाक बीमारियों का शिकार होने लगता है।

जो लोग Aids से ग्रसित होते है वह HIV की दवाइयों से अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को फिर से ठीक कर सकते है। दवाइयों की मदद से CD4 कोशिकाओं को फिर से 200 के ऊपर लाया जा सकता है। और मनुष्य लंबा और स्वास्थ्य जीवन जी सकता है लेकिन याद रहे वो अभी भी Aids का मरीज़ ही कहलायेगा। उसे नियम का पालन करना होगा और उचित व्यवहार व संबंध का पात्र रहना चाहिए।

Aids FaQ (सवाल-जवाब)

एड्स होने का क्या कारण है?

एड्स होने के लिए एचआईवी से संक्रमित व्यक्ति के रक्त, वीर्य, योनि स्राव व इन्फेक्टेड सिरिंग के संपर्क मे आना अनिवार्य होता है।

एड्स से शरीर का कौन सा अंग प्रभावित होता है?

एड्स का पूरा नाम एक्वायर्ड इम्यूनोडेफिशियेंसी सिंड्रोम है। यह किसी अंग को नहीं बल्कि बहुत ही महत्वपूर्ण विशिष्ट रक्त कोशिकाओं को नष्ट करके पूरे शरीर को नुकसान पहुंचाती है।

एड्स के लक्षण कैसे होते हैं?

एड्स के लक्षण जैसे कि बुखार, ख़ासी, वजन घटना, थकावट, स्किन पर दाग धब्बे आना, आदि सभी लक्षण पीड़ित होने के 2-4 हफ्ते बाद दिखना शुरू होता है।

एड्स की बीमारी कैसे ठीक होती है?

एड्स का अभी तक कोई इलाज नहीं है इसे बस HIV की दवाइयों से काबू मे किया जा सकता है और व्यक्ति को लम्बे समय तक जीवित रखा जा सकता है।

एड्स से पीड़ित व्यक्ति को क्या खाना चाहिए?

एड्स से पीड़ित व्यक्ति को ऐसा आहार लेना चाहिए जो शरीर के इम्यून सिस्टम को बढ्ने मे मदद करे। जैसे कि फल, हरी सब्जियाँ, आलू, शकरकंद, ब्राउन राइस, आदि।

हमे पूरा भरोसा है कि आपको यह पोस्ट Aids ka Full Form जरूर पसंद आया होगा। हम हमेशा से यह कोशिश करते रहते है कि हम आपके लिए अच्छा से अच्छा Content लेकर आए। हम आशा करते हैं कि अब आपको Aids Full Form in Hindi से संबन्धित सभी जानकारी मिल गयी होगी।

अगर आपके पास आर्टिकल Aids Full Form in Hindi से संबन्धित कोई सुझाव व सवाल है तो आप हमे नीचे कमेंट के माध्यम से बता/पूंछ सकते है। यदि आपको आज की यह पोस्ट पसन्द आई है तो आप अपने Friends के साथ इस आर्टिकल को सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे।

Leave a Comment